sem in hindi

SEM क्या है ?

आप पढ़ रहे है sem in hindi ; सर्च इंजन मार्केटिंग या SEM , तेजी से प्रतिस्पर्धी बाजार में अपने व्यापार को बढ़ाने के सबसे प्रभावी तरीकों में से एक है।

हालाँकि ऑनलाइन विज्ञापन देना पुराने समय में अधिक महत्वपूर्ण नहीं रहा है, परन्तु वर्तमान युग में SEM आपके उत्पादों को बढ़ावा देने और आपके व्यवसाय को बढ़ाने के लिए सबसे प्रभावी तरीका है।

इस गाइड में, आप SEM से सम्बंधित मूल बातें और साथ ही search engine marketing सही करने के लिए कुछ रणनीतियों का अवलोकन सीखेंगे।

Search engine marketing , Search engine result pages  (या SERPs) पर दिखाई देने वाले सामान्य  विज्ञापन ही होते है जो गूगल एड के नाम से भी प्रखयात है। इन विज्ञापनों को दिखाने के लिए गूगल पर आपको अपने उत्पाद के प्रदर्शन के लिए भुगतान करना होता है वही गूगल के द्वारा जिस साइट पर एड दिखाया जाता है उस साइट के मालिक को भुगतान किया जाता है।  

विज्ञापनदाता उन कीवर्ड पर बोली लगाते हैं, जिस पर Google और बिंग जैसी सेवाओं के users अधिकाधिक आकर्षित होकर उसपर क्लिक करे। क्योंकि विज्ञापन दिखाने का उद्देश्य ही यही होता है कि अधिक से अधिक लोगो को अपने उत्पाद के लिए खींचा जाए। 

अक्सर cost-per- click (CPC) विज्ञापनों के नाम से जाने जाने वाले इन विज्ञापनों में विभिन्न प्रकार के प्रारूप आते हैं। कुछ छोटे, पढ़ने वाले विज्ञापन होते हैं, जबकि अन्य, जैसे उत्पाद लिस्टिंग विज्ञापन (PLAs, जिन्हें शॉपिंग विज्ञापन भी कहा जाता है) वीडियो या इमेज सम्बंधित अथवा उत्पाद-आधारित विज्ञापन होते हैं जो उपभोक्ताओं को महत्वपूर्ण जानकारी को एक नज़र में देखने की अनुमति देते हैं, जैसे कि मूल्य और समीक्षाएँ इत्यादि।

SEM की सबसे बड़ी ताकत यह है कि यह विज्ञापनदाताओं को अपने विज्ञापन उन प्रेरित ग्राहकों के सामने रखने का अवसर प्रदान करता है, जो खरीदारी के लिए तैयार हैं। कोई अन्य विज्ञापन माध्यम ऐसा नहीं कर सकता है, यही वजह है कि SEM आपके व्यवसाय को विकसित करने के लिएअत्यधिक प्रभावी और ऐसा आश्चर्यजनक शक्तिशाली तरीका है।

SEO vs SEM in hindi

SEM बनाम SEO: क्या अंतर है?

आम तौर पर, “SEM” आपके सर्च इंजन में अपने उत्पाद के लिए किए जाने वाले मार्केटिंग को संदर्भित करता है, यह एक प्रकार का प्रणाली है जहां व्यवसाय Google को search results में अपने विज्ञापन दिखाने के लिए भुगतान करते हैं।

SEO, एक अलग तथ्य है क्योंकि यहाँ व्यवसाय ट्रैफ़िक और क्लिक के लिए Google को भुगतान नहीं करते हैं; बल्कि, वे किसी दिए गए कीवर्ड के लिए सबसे अधिक प्रासंगिक सामग्री होने से खोज परिणामों में एक निशुल्क स्थान कमाते हैं। अधिक जानकारी के लिए यह लेख अवश्य पढ़े – SEO क्या होता है ?

SEO और SEM दोनों ही आपकी ऑनलाइन मार्केटिंग रणनीति के मूलभूत भाग होने चाहिए। वास्तव में SEO, सर्च इंजन के शीर्ष पर सदाबहार ट्रैफ़िक को चलाने का एक शक्तिशाली तरीका है, जबकि फ़नल के निचले भाग में रूपांतरण चलाने के लिए सर्च इंजन मार्केटिंग  एक अत्यधिक लागत प्रभावी तरीका है।

SEO के विषय में अधिक जानकारी के लिए निम्न लेखो को पढ़े – 

SEM क्यों करे ?

उत्पादों की ऑनलाइन शोध और खरीदारी करने वाले उपभोक्ताओं की बढ़ती संख्या के साथ, SEM किसी कंपनी की पहुंच बढ़ाने के लिए एक महत्वपूर्ण ऑनलाइन विपणन रणनीति बन गई है।

SEM हिंदी में

जैसे ऊपर दिए गए स्क्रीनशॉट में आप देख सकते है जब सर्च किया गया कि best hosting provider in india तो मुझे सर्च इंजन द्वारा किसी प्रकार का कोई ब्लॉग पेज ना दिखा कर सभी एड जो इस कीवर्ड से सम्बंधित थे को दिखाया गया। 

वास्तव में, एक वेबसाइट पर अधिकांश नए आगंतुक इसे खोज इंजन पर एक query का प्रदर्शन करके पाते हैं। इस प्रकार एक अतिरिक्त बोनस के रूप में, प्रत्येक आगंतुक organic search के परिणामों में वेबसाइट की रैंकिंग को बेहतर बनाता है।

चूंकि उपभोक्ता व्यावसायिक प्रकृति की जानकारी खोजने के इरादे से सर्च query दर्ज करते हैं, Search marketing ठीक समय पर उपभोक्ताओं तक पहुँचता है: इससे उन्हें उन्हें नई जानकारी भी प्राप्त होती हैं।

यक़ीनन इसका प्रमुख उद्देश्य अपने साइट में अधिक से अधिक लोगो को आकर्षित करना होता है। 

SEM के लिए कीवर्ड रिसर्च कैसे करे

इससे पहले कि आप अपने SEM अभियानों में कौन से कीवर्ड का उपयोग कर सकें,, आपको अपने कीवर्ड प्रबंधन रणनीति के हिस्से के रूप में व्यापक शोध करने की आवश्यकता है।

सबसे पहले, आपको उन खोज-शब्दों की पहचान करने की ज़रूरत है जो आपके व्यवसाय के लिए प्रासंगिक हैं और संभावित ग्राहक आपके उत्पादों और सेवाओं की खोज करते समय उपयोग करने की संभावना रखते हैं।

इसे पूरा करने का एक तरीका गूगल एडवर्ड के फ्री कीवर्ड टूल का प्रयोग करना हो सकता है। बस एक कीवर्ड दर्ज करें जो आपके व्यवसाय या सेवा के लिए प्रासंगिक हो, और संबंधित कीवर्ड के सुझाव विचारों को देखें जो आपके विभिन्न SEM अभियानों का आधार बन सकते हैं।

इसे आरम्भ करने के लिए सर्वप्रथम इस लिंक पर जाए – गूगल एड

गूगल एड में SEM करना

दिए गए लाल बक्से में क्लिक करने पर आपको एक search box  दिखाई देगा, आपको उस सर्च बॉक्स में अपने कीवर्ड के अनुसार सर्च मारना होगा।  जैसे मैंने सर्च बॉक्स में SEO in hindi डाला है –

गूगल एड में SEM करना
कीवर्ड का CPC और मासिक ट्रैफिक दिखाते हुए

इस प्रकार आप गूगल कीवर्ड प्लानर टूल में किसी कीवर्ड में कितना ट्रैफिक आ रहा है और उस पर दिखाए जाने वाले एड पर कितना CPC है यह देख सकते है। और सर्च इंजन मार्केटिंग में आपको यही तो देखना होता है। 

कीवर्ड के विषय में अधिक जानकारी के लिए यह लेख अवश्य पढ़े – कीवर्ड क्या होता है ?

SEM से जुड़े प्रचलित शब्द

1. P.P.C. (पे-पर-क्लिक)

PPC विज्ञापन SEM का सबसे लोकप्रिय रूप है। PPC के साथ, व्यापारी तब विज्ञापन के लिए भुगतान करता है जब उपयोगकर्ता लिंक पर क्लिक करता है। अर्थात सर्च इंजन द्वारा PPC विज्ञापन के प्रत्येक क्लिक के लिए एक छोटा सा शुल्क लेता है, लेकिन आप देखेंगे कि निवेश पर संभावित रिटर्न (ROE) लिए गए शुल्क से बहुत अधिक है।

उदाहरण के लिए, यदि आप एड दिखाने के प्रति क्लिक के लिए सर्च इंजन को  $ 3 का भुगतान करते हैं, परन्तु सोचिए यदि उपयोगकर्ता उस एड पर क्लिक करके आपके साइट से $ 100 का सामान खरीदता है, तो आपने काफी लाभ कमाया है।

2. C.P.A. (Cost-Per-Acquisition)

आपका CPA आपके PPC की कुल लागत होती है। अपने CPA की गणना करने से आपको यह निर्धारित करने में मदद मिलेगी कि आपकी भुगतान की गई SEM रणनीति लाभ में है या आपके द्वारा किए गए खर्च से अधिक है। CPA आपके मार्केटिंग अभियान के वित्तीय प्रभाव को समझने में आपकी मदद कर सकता है। आप अपने व्यवसाय के औसत ऑर्डर मूल्य (AOV) और ग्राहक आजीवन मूल्य (CLV) की गणना करके एक स्वीकार्य CPA निर्धारित कर सकते हैं।

3. CPC (मूल्य-प्रति-क्लिक)

CPC एक PPC मार्केटिंग अभियान में प्रत्येक क्लिक की वास्तविक लागत को संदर्भित करता है। यह एक निश्चित समय में आपके प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ औसत बोली  (bid) है। आपकी CPC आपकी अधिकतम कीवर्ड बोली के बराबर या उससे कम होगी।

CPC की गणना आपके क्लिक की कुल लागत को कुल क्लिकों से विभाजित करके की जाती है। आपका औसत CPC आपके वास्तविक मूल्य-प्रति-क्लिक (वास्तविक CPC) पर आधारित होता है, जो आपके विज्ञापन पर क्लिक के लिए आपसे ली जाने वाली वास्तविक राशि है।

4. CPM (cost per million clcik )

CPM से तात्पर्य है कि एक वेबपेज पर 1,000 से अधिक विज्ञापन छापने वाले को बाज़ार में कितना खर्च करना पड़ता है। उदाहरण के लिए, यदि साइट $ 2 CPM का शुल्क लेती है, तो इसका मतलब है कि आप अपने विज्ञापन के प्रत्येक 1,000 छापों के लिए $ 2 का भुगतान करेंगे।

अंतिम शब्द

तो आज हमने सर्च इंजन मार्केटिंग के विषय में जानकारी प्राप्त की। अपने वेबसाइट को लोगो के सम्मुख लाने के लिए SEM एक आवश्यक टूल के रूप में कार्य कर रहा है।  

हालाँकि भारत में अब भी बहुत से वेबसाइट इनके जरिए ट्रैफिक प्राप्त करने से कतराते है और जिसका प्रमुख कारण है कि यहाँ लोग अपने वेबसाइट से किसी उत्पाद को नहीं बेचते अपितु अपने साइट में गूगल एड चला कर कमाई करते है, यह विशेषकर हिंदी साइट के लिए तो निश्चित ही सत्य है।  परन्तु धीरे धीरे अब लोग हिंदी साइट के प्रचार प्रसार के लिए एड का सहारा ले रहे है। 

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा इस विषय में जरूर कमेंट करके बताए , हमारे लेख में किसी भी प्रकार की त्रुटि पाए जाने पर या संशोधन की गुंजाइश होने पर बेझिझक कमेंट करे।

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Newest
Oldest
Inline Feedbacks
View all comments