Home » mobile number port kaise kare | सिम पोर्ट कैसे करे

mobile number port kaise kare | सिम पोर्ट कैसे करे

mobile number port

क्या आप भी अपने मोबाइल नंबर की सर्वर डाउन के चलते परेशान है, क्या आपको भी लगता है कि आपके सिम के डाटा प्लान बहुत ही महंगे हो चले हैं और अब आप चाहते हैं कि आप अपने सिम को किसी अन्य कंपनी में रजिस्टर कराए, क्या आप भी ये जानना चाहते हैं कि अपना मोबाइल नंबर पोर्ट कैसे करें mobile number port kaise kare ? 

मोबाइल नंबर पोर्ट करना एक सरल प्रक्रिया है। हालांकि यह पाया गया है कि बहुत से दुकानदार और मोबाइल शॉप वाले आप किस सिम को पोर्ट करने का भी पैसा लेते हैं, जबकि सिम को पोर्ट किया जाना एक मुफ्त प्रक्रिया है परंतु किसी अन्य कंपनी में अपने सिम का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए पैसा लगता है।

उदाहरण के तौर पर यदि आपके पास एयरटेल का सिम है और आप चाहते हैं कि आप इसे जियो में पोर्ट करें, तो आपके सिम को पोर्ट करने के लिए आपको किसी भी प्रकार की कीमत चुकाने की आवश्यकता नहीं है परंतु जब आप अपने सिम को दूसरे कंपनी में पोर्ट कराते हैं तो अब दूसरी कंपनी के उपभोक्ता बन जाते हैं और तब आपको अपने सिम को शुरू कराने के लिए कुछ रिचार्ज कराने की आवश्यकता होती है। 

इस लेख के माध्यम से हम आपको स्पष्ट रूप से बताएंगे कि अपने सिम को घर बैठे कैसे पोर्ट किया जा सकता है।

परंतु इससे पहले कि हम अपने सिम को पोर्ट करना सीखें यह जानना अति आवश्यक है कि आखिर यह सिम पोर्ट होता क्या है?

वर्तमान समय में हम सब किसी अच्छे सस्ते और सुलभ संचार माध्यम की तलाश करते हैं। परंतु यह पाया जाता है कि किसी भी कंपनी का एक बार ग्राहक डाटा बेस मजबूत हो जाता है तो फिर वह अपनी मूल सुविधाओं को देने से पीछे हटता चला जाता है जिसके कारण कस्टमर उसकी सर्विस को अलविदा कह देता है।

इसी प्रकार की घटना मोबाइल कंपनियों के साथ भी होती है मोबाइल कंपनियां शुरुआत में अपने ग्राहक डेटाबेस को मजबूत बनाने के लिए बहुत अधिक मात्रा में सस्ते प्लान वाउचर और अन्य सुविधाएं प्रस्तुत करती है जिससे आकर्षित होकर ग्राहक इनकी सेवाएं लेने के लिए इनके सिम को खरीद तो लेता है परंतु समय के साथ उसे पता चलता है जाता है कि अधिक ग्राहक डेटाबेस होने के कारण यह कंपनी मोबाइल को हल इंटरनेट और अन्य मूलभूत सुविधाएं बेहतर तरीके से नहीं करा पा रही है।

ऐसी स्थिति में ग्राहक अब ऐसे फोन सर्विस प्रोवाइडर की ओर रुख करता है जो मूलभूत सुविधाएं भी सर्वोत्तम तरीके से प्रदान करती हो साथी साथ उसकी प्लान वाउचर भी सस्ती हो। इसी घटना को सिम पोर्ट करवाना कहते हैं।

जब कोई व्यक्ति अपने वर्तमान कॉल सर्विस प्रदाता से संतुष्ट नहीं हो पाता है और किसी अन्य मोबाइल सर्विस प्रदाता में स्थानांतरित होना चाहता है वह भी बिना अपना नंबर बदले, इसी घटना को मोबाइल पोटेबिलिटी या सिम पोर्ट करवाना कहते हैं।

तो मोबाइल नंबर पोर्ट करवाने का सबसे प्रमुख कारण होता है वर्तमान के टेलीकॉम सर्विस प्रदाता द्वारा असंतुष्ट तथा अपने नंबर को परिवर्तन किए बिना नए टेलीकॉम सर्विस प्रदाता मैं स्वयं के नंबर को रजिस्टर्ड करना।

अब जो कि हम जान चुके हैं कि सिम पोर्ट क्या होता है तो आइए अब हम जानते हैं कि सिम पोर्ट कैसे किया जाता है या mobile number port kaise kare?

mobile number port kaise kare सिम पोर्ट कैसे करे? 

मोबाइल नंबर पोर्ट करवाने की प्रक्रिया बहुत ही आसान है हालांकि यह थोड़ी तकनीकी से संबंधित है इसलिए लोग इसे जटिल समझ लेते हैं परंतु यह इतनी आसान है कि आप स्वयं भी घर बैठे मोबाइल नंबर को पोर्ट कर सकते हैं।

घर बैठे मोबाइल से लाखो रूपए कमाने के तरीके 

paytm से पैसे कैसे कमाए?

यह बात आप भी जानते हैं कि हर रोज नया नंबर लेना और उसे अपने पहचान वालों तक पहुंचा पाना एक जटिल कार्य होता है, अतः इसी प्रकार की दुविधा को देखते हुए भारतीय टेलीकॉम मंत्रालय ने MNP नामक एक सेवा का निर्माण किया है।

MNP kya hota hai?

MNP या Mobile Number Portability एक प्रकार की सेवा होती है जिसके माध्यम से हम आसानी से अपने एक ही नंबर को किसी एक टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर से किसी अन्य टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर में ट्रांसफर कर सकते हैं।

इस सेवा की शुरुआत करने का मुख्य लक्ष्य लोगों को बार-बार अपने मोबाइल नंबर को किसी अन्य टेलीकॉम सर्विस प्रदाता में स्थानांतरित होने के वक्त परिवर्तन करने से बचाना है।

भारत में मोबाइल नेटवर्किंग और टेलीकॉम से संबंधित जितनी भी नीतियां और पॉलिसी होती है उसका नियंत्रण और निर्धारण ट्राई (TRAI) करती है। TRAI ( Telecom regulation authority of India) के माध्यम से ही हम अपने मोबाइल नंबर को किसी अन्य टेलीकॉम कंपनी पर पोर्ट करा सकते हैं। Port की इस प्रक्रिया में TRAI के माध्यम से ही UPS code भेजा जाता है।

मोबाइल नंबर पोर्ट या MNP kaise karte hai ?

MNP या मोबाइल नंबर पोर्ट करने की प्रक्रिया निम्नानुसार है –

  1. MNP की प्रक्रिया की सबसे शुरुआती चरण में आपको उस नंबर जिसे आपको पोस्ट करना है, के माध्यम से टेक्स्ट मैसेज भेजना होगा। अतः अपने मोबाइल में मैसेज बॉक्स खोल ले।
  2. यह टेक्स्ट मैसेज आपको एक विशेष प्रारूप में भेजना होता है। सबसे पहले कैपिटल लेटर में PORT लिखे तत्पश्चात space देकर अपना 10 अंको का मोबाइल नंबर दर्ज करे और इसे 1900 पर भेज दे।
  3. यह प्रारूप को निम्नलिखित रूप में भी प्रकट किया जाता है – { PORT 10 digit mobile number} 
  4. उदाहरण के तौर पर, मान लीजिए हमारे पास एक मोबाइल नंबर, जिसे port करना है वह इस प्रकार है – 0123456789, अतः हम अपने मैसेज बॉक्स में कुछ इस प्रकार से लिखेंगे PORT 0123456789, तत्पश्चात इसे 1900 पर भेजेंगे।
  5. एक बार उपरोक्त संदेश भेजते ही आपके उसी मोबाइल नंबर पर 1901 नंबर से एक रिप्लाई प्राप्त होता है जिसमें आपको एक कोड (यूनिक पोर्ट कोड) प्राप्त होता है और साथ ही यह भी लिखा होता है कि आपकी सिम पोर्ट की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है, तथा यह प्रक्रिया अगले 04 दिनों तक वैध रहेगी। अर्थात आप अगले 04 दिनों तक इस UPC कोड के माध्यम से अपना मोबाइल नंबर पोर्ट करा सकते हैं। (कुछ विशेष स्थलों पर यह कोर्ट 15 दिनों तक भी वैध रहता है )
  6. अगले चरण में आप पोर्ट करने के पश्चात जिस भी मोबाइल टेलीकॉम कंपनी के साथ अपने नंबर को जोड़ना चाहते हैं उदाहरण के लिए बीएसएनएल, एयरटेल या फिर jio इत्यादि के सर्विस स्टोर पर जाकर एक आवेदन देना होता है जिसमें उनके द्वारा मांगे गए मूल और वैध पहचान पत्रों जैसे आधार कार्ड, फोटो, UPC code और कुछ अन्य दस्तावेज को प्रकट करना होता है।
  7. अब कंपनी की ओर से आपको एक नया सिम कार्ड प्रदान किया जाता है और कहा जाता है कि आपकी पोर्ट की आवेदन अभी निरीक्षण के दौर में हैं तथा जैसे ही आप के सभी दस्तावेज की पुष्टिकरण हो जाएगी और इसे वैध पाया जाएगा तो आपका सिम पोर्ट हो जाएगा और आप हमारे द्वारा दिए गए नए सिम का प्रयोग कर सकते हैं।
  8. अब उपरोक्त कंपनी जिस पर आप अपना सिम पोर्ट करना चाहते हैं आपके सभी दस्तावेजों की जांच करती है इस प्रक्रिया में 3 से 4 दिन का वक्त लग जाता है तब तक आपका सिम एक्टिव होता है। जैसे ही आपका सिम पोर्ट हो जाता है वैसे ही आपका पुराना सिम कार्ड बंद हो जाता है तथा आपको नए सिम को अपने मोबाइल पर लगाना होता है।
  9. जब आप अपने नए सिम कार्ड को अपने मोबाइल पर लगाते हैं और जैसे ही आपको उस सिम कार्ड का नेटवर्क दिखाई देना चालू हो जाता है तो इस बात की पुष्टि हो जाती है कि आपका मोबाइल नंबर आपके मनचाहे टेलीकॉम नेटवर्क पर पोर्ट हो चुका है।

तो बस उपरोक्त तरीके से आप बहुत ही सरलता से अपने सिम कार्ड को किसी भी वक्त किसी भी तलीकॉम कंपनी पर पोर्ट करा सकते हैं।

Sim port karne ka number 

जैसा कि आपको ऊपर बताया गया है सिम पोर्ट करने हेतु आपको अपने मोबाइल नंबर से PORTअपना मोबाइल नंबर लिखकर 1900 पर भेज देना है।

उदहारण के लिए यदि आपका मोबाइल नंबर 0123456789 है तो इसे आप निम्न प्रकार से 1900 नंबर पर भेजेंगे –

PORT 0123456789

यह प्रक्रिया आपके किसी भी नंबर हेतु समान रूप से लागू होगी चाहे वह किसी भी टेलीकॉम कंपनी की हो जैसे –

Vi sim ko jio me port kaise kare

Airtel se jio me port kaise kare

Jio se airtel me port kaise kare

Jio se VI me port kaise kare

Bsnl se jio me port kaise kare

Bsnl se airtel me port kaise kare

Bsnl port kaise kare इत्यादि।

sim Port status kaise check kare

जिस प्रकार अपना मोबाइल नंबर पोर्ट करना एक सरल प्रक्रिया है उसी प्रकार अपने मोबाइल नंबर की पोस्ट होने की स्थिति या स्टेटस को चेक करने की प्रक्रिया भी उतनी ही सरल है।

आप जिस भी टेलीकॉम कंपनी के साथ अपने नंबर को पोर्ट करवा रहे हैं उसके अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर भी आप अपने सिम पोर्ट का स्टेटस चेक कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप ट्राई (TRAI) के ऑफिशियल या अधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से भी अपने मोबाइल नंबर के वोट की स्थिति की जांच कर सकते हैं। जिसका लिंक निम्नलिखित है – 

https://www.mnpindia.in/porting-status

इस लिंक में जाने पर आपको TRAI की ओर से प्रदान की गई U.S.P. को दर्ज करना होता है और जैसे ही आप इस कोर्ट को वेबसाइट पर दिए गए जगह पर दर्ज करते हैं वैसे ही आप के सिम पोर्ट के स्टेटस को दिखा दिया जाता है।

 

Port request cancel kaise kare

जिस प्रकार पोर्ट करने की प्रक्रिया बहुत ही सरल है उसी प्रकार से कैंसिल करने की प्रक्रिया भी उतनी ही सरल है।

यदि आपने अपने सिम नंबर के माध्यम से पोर्ट करने हेतु आवेदन मैसेज के रूप में भेजा हुआ है और आप किसी कारणवश इसे पोर्ट नहीं करवाना चाहते तो इसके लिए आपको एक निश्चित प्रारूप में एक अन्य टेक्स्ट मैसेज उसी नंबर पर पुनः भेजना होगा या प्रारूप निम्नलिखित है –

CANCEL MOBILE NUMBER

ऐसा लिख कर आपको इसे 1900 नंबर पर भेज देना है।

गूगल पैसे कैसे कमाता है?

30+ Best Hindi Blog in India – भारत के Best Hindi Blogger कौन है?

उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि हमने जिस नंबर से पोर्ट हेतु आवेदन किया हुआ था उसी नंबर को पोस्ट नहीं करवाना चाहते अर्थात हम नंबर 0123456789 के पोर्ट को कैंसिल करवाना चाहते हैं अतः इसके लिए हमे निम्नलिखित प्रक्रियाओं से गुजरना होगा –

  1. सर्वप्रथम हम अपना मोबाइल में मैसेज बॉक्स को खोलेंगे और एक नए मैसेज को इस प्रकार से लिखेंगे – CANCEL 0123456789
  2. अब इस मैसेज को हम 1900 पर भेज देंगे।

इस प्रकार हम पाते हैं कि किसी भी नंबर को पोर्ट करने की प्रक्रिया और उस नंबर को पोर्ट को कैंसिल करने की प्रक्रिया दोनों ही बहुत सरल है।

मोबाइल नंबर पोर्ट करने हेतु कुछ नियम | TRAI rule for sim portability

क्योंकि हम सब जानते हैं की मोबाइल नंबर पोर्ट करने हेतु अधिकारिक एवं नियामीकी संस्था TRAI है, जिसने वर्तमान में मोबाइल नंबर पोर्ट करने हेतु कुछ विशेष प्रावधान एवं नियम व शर्तें निर्धारित की हुई है, बिनाइन मुख्य नियमों को पड़े अपने नंबर को पोर्ट कराना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। अतः हम आपको सुझाव देते हैं कि एक बार इन नियमों को अवश्य पढ़ ले।

web design kya hai in hindi और इसे कैसे सीखे?

blogger kya hai? और blogger में अकाउंट कैसे बनाए ?

ट्राई की ओर से मोबाइल नंबर पोर्ट करने हेतु प्रदान की गई नियम व शर्तें निम्नलिखित :- 

  1. मोबाइल नंबर पोर्ट करने हेतु ट्राई के द्वारा प्रदान की जाने वाली UPC कोड केवल 4 दिनों के लिए ही वैध होगी अर्थात इस कोर्ट के माध्यम से आप केवल 4 दिन के भीतर ही अपना मोबाइल नंबर पोर्ट करा सकेंगे। यद्यपि 4 दिन के पश्चात भी आप नया UPC कोड हेतु पुनः आवेदन कर सकते हैं।
  2. किसी भी टेलीकॉम कंपनी से आप तभी पोस्ट कर सकते हैं जब आप उस कंपनी के 90 दिन तक वह ग्राहक रहे हो। उदाहरण के लिए यदि आप एयरटेल से jio में अपना नंबर पोर्ट कराना चाहते हैं तो आप को इस चीज की पुष्टि कर लेनी चाहिए कि आपका एयरटेल नंबर 90 दिनों से अधिक पुराना हो।
  3. पोर्ट करवाने से पूर्व आपकी बकाया राशि पूरी होनी चाहिए। अर्थात आप जिस भी टेलीकॉम कंपनी को छोड़कर अन्य टेलीकॉम कंपनी पर अपना नंबर पोर्ट करा रहे हैं उससे पूर्व आपका सभी भुगतान क्लियर होना चाहिए।

Mobile number Port karne ke fayde

अपने मोबाइल नंबर को पोर्ट कराने के अनेकों फायदे हैं जिनमें से कुछ प्रमुख निम्नलिखित है –

  1. आप आसानी से बिना अपना नंबर बदले किसी भी टेलीकॉम कंपनी से कुछ ही दिनों में जुड़ सकते हैं।
  2. Port की प्रक्रिया अपेक्षाकृत एक आसान और सुलभ व्यवस्था है।
  3. सबसे खास बात यह है कि इस पूरी प्रक्रिया में आपको अपना नंबर खोने की आवश्यकता नहीं है।
  4. Port करने की प्रक्रिया से आप आसानी से किसी भी टेलीकॉम कंपनी की कष्टदाई नेटवर्क व्यवस्था से बच सकते हैं साथ ही किसी ऐसे टेलीकॉम के साथ जुड़ सकते हैं जिसकी सुविधाएं अपेक्षाकृत बेहतर हो।
  5. इंटरनेट के इस युग में डाटा प्लान की कीमत दिनों दिन बढ़ती जा रही है जिसके चलते लोग सस्ते डाटा प्लान वाले नेटवर्क से कोर्ट के माध्यम से आसानी से जुड़ सकते हैं।
  6. यह प्रक्रिया आप घर बैठे भी कर सकते हैं

Mobile number Port karne ke nuksaan

Mobile number port करने के कुछ नुकसान निम्नलिखित है –

  1. यह देखा गया है कि कभी-कभी पोर्ट की प्रक्रिया पूरी होने में सामान्य से अधिक समय लग जाता है।
  2. पोर्ट करने के दौरान आपके पुराने टेलीकॉम सर्विस प्रदाता आपको कुछ आकर्षक प्लान वाउचर सुनाकर प्रलोभन देने का प्रयास करते हैं। तथा आप जिस मकसद से अपने नंबर को पोर्ट करा रहे हैं उससे भटक सकते हैं।
  3. कभी-कभी कुछ सर्विस प्रदाता पोर्ट करने हेतु आपसे कुछ एडिशनल charges की मांग कर सकते है। हालांकि यह नॉमिनल होता है।

निष्कर्ष : mobile number port kaise kare

आज के युग में प्रत्येक व्यक्ति को डिजिटल संबंधित जानकारी होनी आवश्यक है अपने मोबाइल नंबर को पोर्ट करना भी इन डिजिटल जानकारियों में से एक है हालांकि मोबाइल नंबर को पोर्ट किया जाना एक बहुत ही आसान प्रक्रिया है जिसे लोग नहीं जानते और सोचते हैं कि यह उनसे नहीं हो सकता। जबकि आपके स्वयं की पूरी प्रक्रिया को जानने के पश्चात ऐसा एहसास हुआ होगा कि यह तो इतना आसान है कि आप इसे किसी भी स्थल से कुछ ही सेकंड में कर सकते हैं।

इस प्रकार हम देखते हैं कि इस लेख के माध्यम से हम यहां सीख चुके हैं कि mobile number ko port kaise kare. परंतु फिर भी यदि आपको अपने मोबाइल नंबर को पोर्ट करने में किसी प्रकार की भी समस्या का अनुभव हो रहा है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपनी इस समस्या को लिख सकते हैं।

आशा करते हैं कि आपको हमारे यह लेख mobile number port kaise kare रुचिकर लगा होगा इसी प्रकार के अन्य जानकारियां हिंदलेख के माध्यम से प्रदान करते रहेंगे। धन्यवाद।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments