keyboard kya hai in hindi ? जानिए keyboard के बारे में सबकुछ…

keyboard in hindi

इस लेख के माध्यम से आपको keyboard kya hai in hindi अर्थात इस लेख में हिंदी में keyboard के विषय में जानकारी दी जाएगी। 

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि एक keyboard मूल रूप से keys या buttons का एक board होता है। माउस के साथ, keyboard computer के साथ उपयोग किए जाने वाले प्राथमिक इनपुट उपकरणों में से एक है। keyboard का डिज़ाइन मूल typewriter keyboard से आता है, जिसने अक्षरों और संख्याओं को इस तरह व्यवस्थित किया है कि type-bar को जल्दी type करने पर जाम होने से रोका जा सके।

यह keyboard-layout QWERTY डिजाइन के रूप में जाना जाता है, जो कीबोर्ड के ऊपरी-बाएं-कोने के पहले छह अक्षरों के रूप में देखा जा सकता है।

हालांकि computer keyboard का डिज़ाइन typewriter से ही आया है, आज के keyboard में कई अन्य keys भी हैं। उदाहरण के लिए Modifier keys , जैसे कि control (Ctrl),  Alt / Option, और Command (Mac) या Windows key (Windows) को कुछ कार्य को करने के लिए “shortcut” के रूप में अन्य keys के साथ संयोजन में उपयोग किया जा सकता है।

उदाहरण के लिए, cmd+S (Mac में), या Ctrl + S (windows में) को दबाने से आमतौर पर आपके द्वारा किए जा रहे काम जो document या जिस भी format में हो , save हो जाता है।

आज के अधिकांश आधुनिक computer keyboard में keyboard के शीर्ष पर function keys (F1 से लेकर F12 तक की keys) की एक पंक्ति होती है, इसके अलावा inverse T shape में व्यवस्थित arrow keys या (direction keys), और दाएं हाथ पर एक संख्यात्मक keypad होता है। कुछ कीबोर्ड में और भी बटन होते हैं, जिससे आप सिस्टम volume को बदल सकते हैं, एक CD निकाल सकते हैं, या अपने ई-मेल या वेब ब्राउज़र जैसे प्रोग्राम तुरंत खोल सकते हैं।

इतने सारे function के साथ लैस एक keyboard , computer-science का एक बेजोड़ नमूना है।  इसके सभी functions को जान लेने से पहले आइए पहले keyboard kya hota hai in hindi की सटीक परिभाषा जान लेते है-

कम्प्यूटर के कीबोर्ड को कुछ इस तरह से परिभाषित किया जा सकता है –

keyboard किसी computer में टाइपराइटर के समान उपयोग किए जाने वाले मुख्य इनपुट डिवाइसों में से एक है।इसका उपयोग कंप्यूटर सिस्टम में text और numeric data दर्ज करने के लिए किया जाता है।

अर्थात ,keyboard कुछ और नहीं , कंप्यूटर को संचालित करने वाली चाबियों का एक पैनल ही होती है।

यह function keys (F1-F12) जैसी कुछ अतिरिक्त कुंजी के साथ आता है, मानक keyboard में 104 keys होती हैं।

आजकल USB keyboard भी उपलब्ध है जिसे कंप्यूटर सिस्टम के USB पोर्ट से जोड़ा जाता है इसके अतिरिक्त आधुनिक समाय में wireless keyboard  भी उपलब्ध है , जिसे computer पर बिना किसी wire के जोड़ा जाता है , यहाँ एक bluetooth इनके मध्य जुड़ने का कार्य करता है। 

types of keys in keyboard | (keyboard में keys के प्रकार kya hai in hindi)

keyboard में मुख्यतः पांच प्रकार के keys पाए जाते है – 

1. alphabet keys

keyboard in hindi

एक keyboard में A से लेकर Z तक,  26 alphabet keys होते है। हम किसी भी प्रकार के शब्दों को type करके यहाँ एक वाक्य बना सकते है। 

2. numeric keys

keyboard hindi

इस प्रकार के keys number type करने के लिए होते है , ये number keys भी कहलाते है। 

ये 0-9 तक के अंको के साथ एक keyboard में उपस्थित होते है। हम keyboard के दाएं ओर दिए गए number को भी यहाँ प्रयोग कर सकते है। यहाँ पर 0-9 अंको के साथ-साथ दशमलव(.), जोड़(+), घटाव (-), गुणा (*) और भाग (/) ,अंकित होते है। 

shift keys के साथ जब दाएं तरफ के दिए गए number pads को दबाया जाता है तो ये navigation keys की तरह कार्य करते है। 

3. function keys

keyboard hindi

keyboard में इस प्रकार के keys सबसे ऊपर के postion में अवस्थित होते है। इन keys का प्रयोग पूर्वनिर्धारित कार्य के लिए किया जाता है , अर्थात इन सभी keys के सभी कार्य पहले से ही निर्धारित हैं। ये संख्या में कुल 12 होते है और आप इन्हे F1 से ले कर F-12 तक देख सकते है। 

4. Navigation keys in keyboard क्या है in hindi

keyboard in hindi

इस प्रकर के keys आपके लिखे गए text में cursor के movement के लिए दिया जाता है। इन्हे arrow keys भी कहा जाता है। ये चार अलग अलग दिशाओ को इंगित करते है अर्थात ये दाएं, बाएं, ऊपर और नीचे की दिशा को दिखाते है। 

इनके अतिरिक्त इस cursor keys के ऊपर कुछ अन्य मुख्य keys होते है जो home, end, pageup और page down के नाम से जाने जाते है। 

home 

यह key आपके cursor को आपके किसी भी paragraph के शुरुवात पर ले जाता है। 

end 

यह key आपके cursor को line के अंत पर ले जाता है। 

page up 

यदि आप के पास बहुत सारे page है , तो आप इस key का प्रयोग करके just ऊपर के पृष्ठ पर पहुंच जाते है। 

page down 

यह key आपके वर्तमान पेज से आपको नीचे page में ले जाती है। 

5. special keys in keyboard kya hai in hindi

keyboards में कुछ special keys निम्न है –

caps lock key

इस key का उपयोग अपने लेख के alphabets को uppercase या capital letters में लिखने के लिए किया जाता है। यह key keyboard के left side पर होता है। इस प्रकार के key को toggle key भी कहा जाता है, क्योंकि इसे दबाए जाने पर आपको alphabetical function reverse और forth होती है।

जब capslock को दबा कर सक्रीय किया जाता है तो आपको alphabetical font तब तक प्राप्त होते है जब तक आप capslock को पुनः नहीं दबा देते।

Num lock key

यह numeric lock या number lock का ही short form है। इस key का उपयोग numeric keypad को सक्रिय या निष्क्रिय करने के लिए किया जाता है। 

यह key, keyboard के right side ऊपर अवस्थित होता है जहां पर आपका numpad होता है। 

num lock को on करने पर यह user को numpad के numbers को उपयोग करने की अनुमति देता है। उसी प्रकार से इसे दबा कर off कर देने से यह numpad को बंद कर देता है। 

keyboard in hindi

shift key

इस key का प्रयोग अन्य key के साथ संयुक्त रूप से किया जाता है, इसी कारन इसे combination key भी कहा जाता है। सामान्य keyboard में दो shift key होते है। 

keyboard के कुछ keys जैसे numeric keys इत्यादि पर ऊपर में symbols होते है। shift key उन symbols को input करने में मदद करता है। 

जब हम shift key के साथ numeric pad को दबाते है तो हमें विशेष symbols प्राप्त होते है जो उन numeric keypads के ऊपर में लिखे होते है। 

इसके अतिरिक्त जब आप shift keys को alphabet keys के साथ दबाते है तो हमें capital में इनपुट मिलता है। 

एक shift key सामान्यतः keyboard में दोनों ओर (बाये और दाए) अवस्थित होते है। और बाए और में सामान्यतः यह cap lock के नीचे में उपस्थित होता है। और दाए ओर में enter के निचे अवस्थित होता है। 

इसके अतिरिक्त भी shift keys के कुछ अनुप्रयोग होते है , उदाहरण के लिए shift keys को दबाकर arrow keys को दबाए रखने पर आपके लिखे गए text highlight होता है।

enter key

इस key को return key के नाम से भी जाना जाता है। इसे सामान्यतः अपने कार्य को खत्म किये जाने पर दबाया जाता है। 

इसे cursor को अगले लाइन के शुरुवात करने के लिए भी उपयग किया जाता है। 

यदि किसी भी प्रकार का command या instructions कंप्यूटर को दिया जाता है तो enter दबाकर उसका execute किया जाता है।

हमारे keyboard में दो keyboards होते है , एक keypad में तो दूसरा numpad में अवस्थित होता है। 

space bar key

यह किसी भी keyboard का सबसे लम्बा key होता है। इसका प्रयोग सामान्यतः दो शब्दों के मध्य में blank space लाने के लिए किया जाता है।  

tab key

इसका पूरा नाम tabulator key होता है। इसका उपयोग cursor को अगले खंड या box या स्थान पर ले जाने के लिए किया जाता है।

स्प्रेडशीट और डेटाबेस , मैनेजमेंट एप्लीकेशन तो tab key की सहायता से ही अपने कार्यो को रफ़्तार से कर पाते है। 

word document के page marginकपार जब कभी tab key को दबाया जाता है तो यह cursor को आधा इंच के करीब displace कर देता है।

escape key (Esc)

किसी भी चल रहे operation को समाप्त करने के लिए जिस key को दबाया जाता है उसे Esc या escape key कहा जाता है। उदाहरण के लिए powerpoint में sideshow करते समय पेज को stop करने के लिए इस key को दबाया जाता है। 

इसका उपयोग ctrl key के साथ लड़ने अपर start menu प्राप्त होता है। 

back sapce key

इस key का उपयोग लिखे गए text को erase किये जाने के लिए किया जाता है। इसके उपयोग से selected word, line, page, file और ड्राइंग को erase किया जा सकता है। 

delete key

इस key का प्रयोग दाए ओर लिखे किसी भी text को हटाने, selected words, line, page, file और drawing को मिटने के लिए किया जाता है। 

control key (Ctrl)

इस key का प्रयोग दूसरे keys के साथ combination में किया जाता है। जब कभी भी दूसरे keys के साथ इस key का प्रयोग संयुक्त रूप से किया जाता है तो विशेष प्रकार के functions देखने को मिलते है। 

उदहारण के लिए जब ctrl + alt + delete  तीनो keys को दबाया एक साथ दबाया जाता  है तो task manager खुलता है। 

इसी प्रकार ctrl + C और ctrl + v क्रमशः copy और paste को दर्शाते है। 

हमारे keyboard में दो जगह पर ctrl key अवस्थित होता है। दोनों ही alphabet board के दाएं और बांये bottom में उपस्थित होते है। 

print screen key (prt scr)

इस key के माध्यम से current screen page को print करने का आदेश दिया जाता है। हालाँकि इसके माध्यम से आप उस पेज को pdf रूप में भी download कर सकते है यह निर्भर करता है कि आपका operating system कैसा है। 

scroll lock key

यह key सामान्यतः keyboard pause key के पास ही दिया जाता है। इस key को दिए जाने का असली मकसद उस page पर scroll को बंद करना होता है। 

pause key

इस key को keyboard के दाए भाग के सबसे ऊपर में दिया जाता है जिसका उपयोग किसी halt को temporarily रोकने के लिए होता है। 

इसके अतिरिक्त इसका प्रयोग games के दौरान भी किया जाता है इसके प्रयोग से game को तत्काल प्रभाव से वही पर रोक दिया जाता है। 

modifier key

किसी keyboard के alt, ctrl और shift key इसके अन्तर्गत आते है क्योंकि इन keys का प्रयोग किसी अन्य keys के साथ संयुक्त रूप से किया जाता है। 

keyboard buttons kya kya hai in Hindi

keyboard in hindi

keys

कार्य

Esc

Escape या कार्य की समाप्ति

F1 से F12

Function keys

PrtScn SysRq

स्क्रीन को प्रिंट करने और सिस्टम request button (स्क्रीनशॉट)

Scroll lock

Scroll को लॉक करने के लिए

Pause break

किसी वीडियो या कार्य को यथास्थिति रोकने के लिए

Num lock

Numpad lock करनेवालाkey

Arrows 

ऊपर-नीचे और दाएं-बाएं दिशा इंगित करने वाला

Enter

Enter key (कार्य को OK करने का command देने वाला key)

Home

Home key

End

End key 

Insert

Insert key

Delete

Delete key

Page up

Page up key

Page down

Page down key

Backspace

Backspace key 

Shift

Shift key

Ctrl

Control key

Fn

Function key

Windows

Window key

Alt

Alternative key 

Space bar

Space key 

Caps lock

Capital letter करने के लिए

Tab

Tabular key

~

Tlide (गणित में लगभग को इंगित करता है)

`

Backtick (quoteदेने अथवा tick लगाने के लिए)

!

आश्चर्यजनक चिन्ह (exclaimation)

@

At sign (पता बताने के लिए)

#

hash

$

dollar

%

percentage

^

Above (power)

&

And 

*

multiplication  / star

(

Small bracket open

)

Small bracket close

Dash 

_

Underscore 

+

Plus / addition 

=

Equal 

{

Big curl bracket open

}

Big curl bracket close

[

Big plane bracket open

]

Big plane bracket close

|

पूर्णविराम

\

Oblique / slash

Quote (denotion)

Small quotation

:

विसर्ग

;

Semi column 

?

प्रश्नचिन्ह

/

Oblique / slash

.

fullstop

>

More than

,

apostrophe 

<

Less than 

1 से 0 

Numpad mathematical numbers

A से Z 

alphabet

history of keyboard kya hai in hindi | keyboard का इतिहास क्या है -

हमारे आधुनिक keyboard के विकास का क्रम काफी पुराना रहा है। गौरतलब है कि, typewriter , teleprinters और keypunch सहित कई अलग-अलग आविष्कार हुए, जो आज हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले आधुनिक कंप्यूटर keyboard तक ले जाने में मदद करते हैं।

पहला लेखन उपकरण सबसे पहले 1714 में इंग्लैंड के लंदन में हेनरी मिल द्वारा पेटेंट कराया गया था ।

हमें keyboards के इतिहास जानने के लिए keyboard के विकास क्रम को समझने की आवश्यकता है। 

आधुनिक keyboard का विकास typewriter की ही देन है , आइए जानते है typwriter के विषय में –

typewriter का invention

कई आविष्कारों के साथ, लगभग 18वी सदी के दशक के प्रारंभ में, दुनिया भर में कई typing और लेखन उपकरण बनाए गए थे।

शब्द “typewriter” पहली बार 1868 में क्रिस्टोफर शोल्स द्वारा विकसित और पेटेंट किया गया था। इसके अलावा, टाइप-राइटर ने QWERTY laytout पेश किया, जिसका उपयोग आज भी लगभग सभी अमेरिकी keyboard पर किया जाता है।

नीचे टाइप-राइटर की एक तस्वीर है जो क्रिस्टोफर शोल्स और उनके साथियो के द्वारा मिलकर बनाई गई थी जिसमें typewriter , teleprinters और keypunch शामिल थे जो आज हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले आधुनिक keyboard तक ले जाने में मदद करते हैं। 

telegraph, keypunchऔर teleprinter का आविष्कार

1700 के आस-पास , Joseph Marie Jacquard ने Jacquard  loom को विकसित किया, जिसे बाद में 1800 के दशक के अंत में और 1900 के शुरुआती दिनों में हरमन होलेरिथ ने अपने keypunchआविष्कार के साथ विस्तारित किया।

electric telegraph का आविष्कार सबसे पहले 1832 में पावेल शिलिंग द्वारा किया गया था और morse code संदेशों को एक पंक्ति में भेजने के लिए single key का उपयोग करने की अनुमति दी गई थी। बाद में, ryal arl house ने 1846 में एक printing telegraph का पेटेंट कराया जिसमें 28 piano style की keys का इस्तेमाल किया गया था। keys का उपयोग वर्णमाला के प्रत्येक अक्षर का प्रतिनिधित्व करने और सभी को संदेश भेजने में आसान बनाने के लिए किया गया था।

1874 में,  Emile Baudot ने Baudot code का आविष्कार किया, जिसे बाद में Donald Murray ने आगे बढ़ाया, जिसने telegraph typewriter का आविष्कार किया था जो बाद में teleprinter को बनाने में एक प्रेरणा के रूप में कार्य किया।

teletype machines के साथ First computing devices

ENIAC के रूप में जाना जाने वाला पहला डिजिटल कंप्यूटर जो 1946 में पूरा हुआ था, कंप्यूटर में डेटा इनपुट करने के लिए एक टेलेटाइप मशीन का उपयोग करता था। हालाँकि आज के कंप्यूटर keyboard की तुलना में बहुत अलग था।

बाद में 1948 में, BINAC कंप्यूटर ने teletype को electromagnetic रूप से नियंत्रित करके आज के कंप्यूटरों के करीब लाया, जिससे कंप्यूटर को इनपुट डेटा और प्रिंट परिणामों की अनुमति मिली।

आधुनिक keyboards का उदगम in hindi

1986 में, IBM ने model M keyboard जारी किया जो keyboard के शीर्ष पर function keys के साथ आज की तरह दिखने वाले अधिकांश keyboard जैसा दिखता है। model M आज भी एक high standard keyboard है, क्योंकि इसमें 101-standard US layout keys पेश किया गया था जो आज पूर्ण आकार के keyboard के लिए उपयोग किया जाता है। यह windows key और menu key के साथ windowss keyboard के लिए 104-layout key के लिए भी अनुकूलित किया गया है।

IBM Model M keyboards
IBM model M keyboards

IBM मॉडल M keyboard के आने के बाद से, आज हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले keyboard में कई बदलाव किए गए थे। सबसे महत्वपूर्ण परिवर्तनों में से एक mechanical switch के स्थान पर एक membrane को ले आना है। एक membrane कंप्यूटर keyboard को आसान और सस्ता बनाती है। एक membrane keyboard पहले mechanical keyboard की तुलना में keyboard को शांत, हल्का और पतला बनाता है। 

types of keyboard in hindi : (keyboard के प्रकार kya hai)

1. multimedia keyboard kya hai in hindi

जिस keyboard में सभी multimediaबटन होते हैं, उसे multimedia keyboard कहा जाता है। बटन में play, pause, next, back, volume up, volume down, mute, media launch करने के लिए special button शामिल हैं। इसके अलावा, browser , my computer, calculator launch करने के लिए एक button उपलब्ध है।

2. Virtual Keyboard

smartphone में इस्तेमाल होने वाले keyboard को virtual keyboard कहा जाता है। यह keyboard जरूरत पड़ने पर दिखाई देता है और typing पूरी होने पर गायब हो जाता है। इसे जरूरत के अनुसार automatically set किया जा सकता है। windows system में भी, हम एक virtual keyboard का उपयोग कर सकते हैं जो screen पर दिखाई देता है।

3. mechanical keyboards kya hai in hindi

प्रत्येक key के लिए pphysical button का उपयोग करने वाले प्राचीन keyboard को mechanical keyboard कहा जाता है। प्रत्येक key दबाए जाने पर यह बहुत शोर करता है। एक बटन को नीचे धकेल दिया जाता है और एक elctrical signal, computer को भेजा जाता है जो वर्णों को दिखाता है।

4. Wireless Keyboard kya hai in hindi

bluetooth , IR या radio  frequency तकनीक का उपयोग keyboard को कंप्यूटर डिवाइस से जोड़ने के लिए किया जाता है। हम keyboard को port कर सकते हैं और keyboard के पास parent system की जरूरत नहीं है। ये कीबोर्ड हल्के और आकार में छोटे होते हैं। इन कीबोर्ड में एक transmitor और trans-reciever होता है। transmitor keyboard से stroke को radio frequency के रूप में भेजता है जो कि मूल उपकरण के पास रखे trans-reciever द्वारा प्राप्त किए जाते हैं।

5. USB Keyboard

universal serial bus keyboard में एक तार के साथ एक USB stick होता है जिसे system के USB Port में डाला जाना है और फिर keyboard अच्छी तरह से काम करता है।

6. Ergonomic Keyboard kya hai in hindi

यह keyboard मुख्य रूप से उन users के लिए बनाया गया है जो typing के लिए दोनों हाथों का उपयोग करते हैं। इस कीबोर्ड का लाभ कम मांसपेशियों में खिंचाव और users के लिए carpal tunnel syndrome है। keyboard Ergonomic की दृष्टि से बनाया गया है। यह keyboard महंगा होता है जिस कारन से आम लोग इसे नहीं खरीद पाते। 

7. Qwerty Keyboard kya hai in hindi

पहले के typewriters में strings की व्यवस्था के कारण QWERTY की सीमा थी। शुरुआती computer keyboard में user के उपयोग में आसानी के लिए typewriter भी उसी तरीके से बनाए गए थे। यह keyboard हम सभी के द्वारा उपयोग किया जाने वाला सबसे आम keyboard है और इसलिए इसे किसी अतिरिक्त परिचय की आवश्यकता नहीं है।

8. Gaming Keyboard kya hai in hindi

जिस keyboard में gamers के लिए बहुत कम keys होती हैं, उसे gaming keyboard कहा जाता है। keyboard में graphics भी शामिल हैं। इस keyboard में W, S, D, A और arrow keys एकमात्र keys हैं। design इतना अच्छा है कि किसी को भी keyboard से प्यार हो सकता है।

9. Thumb Keyboard

कम keys या केवल numeric letters वाले छोटे keyboards को thumb keyboard कहा जाता है। ये ज्यादातर numeric conduction के लिए और gaming के लिए भी उपयोग किया जाता है। इस कीबोर्ड का आकार सिर्फ thumb के आकार का होता है।

10. Membrane Keyboard kya hai in hindi

ये keyboard pressure pad का उपयोग करते हैं और एक flexible surface पर membrane (झिल्ली ) नामक अक्षर printed होते हैं। इन keyboard की लागत बहुत कम है। लेकिन typing और gaming ने इनके महत्त्व को खो दिया है। 

11. Laptop Sized Keyboard

इस प्रकार के keyboard में keys कम और इनके बीच का स्थान कम होता है। ये विशेष रूप से laptop के लिए design किए गए हैं। अधिकांश keyboard में numeric keypad नहीं होते हैं और keyboard पर अन्य key के साथ कुछ function शामिल होते हैं।

12. Magic Keyboards

ये कीबोर्ड mac द्वारा निर्मित होते हैं और बैटरी द्वारा चलते हैं। डिजाइन अच्छा है और सभी को keyboard होने का एहसास कराता है।

13. Bluetooth Keyboard kya hai in hindi

यह keyboard bluetooth का उपयोग करके system से जुड़ा हुआ है और इसलिए अन्य उद्देश्यों के लिए USB port का उपयोग किया जा सकता है। यह keyboard, wired keyboard से अधिक flexibility प्रदान करता है।

अंतिम शब्द : keyboard kya hai in hindi

इस लेख के माध्यम से हमने keyboard को गहराई से परिभाषित किया है, साथ ही इसमें keyboard के विभ्भिन प्रकारो के बारे में भी जाना। मुझे लगता है कम्प्यूटर से सबंधित course कर रहे लोगो के लिए यह लेख कारगर साबित होगा। परन्तु फिर भी हमसे किसी प्रकार की त्रुटि हो गयी हो तो नीचे comment box में हमें बताए ताकि हम इसे सुधार सके और भावी पाठको को भी सटीक जानकारी प्राप्त हो। 

आशा करता हूँ कि इस लेख keyboard kya hai in hindi से आपको keyboard के विषय में सम्पूर्ण जानकारी मिली होगी। हिंदलेख को अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments