domain name in hindi

domain name kya hota hai in hindi

तो आपका blog बनाने का विचार बन चुका है और आप domain के विषय में अधिक जानकारी प्राप्त करने आए है या आप blog के क्षेत्र में बिलकुल नए है और domain के विषय में सम्पूर्ण जानकारी चाहते हैं तो आप बिलकुल सही जगह पर आए है क्योंकि यहाँ आपको domain name in hindi के विषय में पूरी जानकारी मिलेगी| 

इससे पूर्व यदि आप blog के विषय में अधिक जानकारी चाहते है तो आप को यह लेख पढ़ना चाहिए-  blog kya hota hai

तो आइए बिना समय गवांए जानते है कि आखिर domain name kya hota hai?

oxford dictionary के अनुसार domain का हिंदी में शाब्दिक अर्थ ज्ञान या गतिविधि का एक क्षेत्र होता है| इस शब्दार्थ का विश्लेषण बड़े व्यापक रूप से हो सकता है क्योंकि यहाँ “एक क्षेत्र” शब्द के कारण इस शब्दार्थ की सीमा अनंत हो जाती है| क्योंकि यह एक विद्यालय, विश्वविद्यालय, tution, प्रशिक्षण क्षेत्र और ऐसे ही अनेक स्थान हो सकते है जहाँ से आपको ज्ञान मिलता हो या आप कोई गतिविधि करते हो| 

तो हम देखते है कि oxford dictionary से मिले उत्तर से हम पूर्णतः domain शब्द का अर्थ नहीं समझ पा रहे है| परन्तु यह हमें इस बात को समझाने में सफल रहा कि domain एक ज्ञान या किसी प्रकार की गतिविधि का क्षेत्र है|

अब हम domain शब्द का पारिभाषिक अर्थ के तरफ बढ़ते है ताकि हम domain शब्द को आसानी से समझ सके|

domain name kya hota hai in hindi

यदि हम डोमेन के पारिभाषिक अर्थ की ओर जाते है तो हमें कुछ इस प्रकार की परिभाषा दिखाई देती है-  “domain name एक प्रकार का address होता है जो किसी विशेष स्थान तक हमें पहुँचता है जो पहले से किसी व्यक्ति या संस्था के नियंत्रण क्षेत्र में है|”

अर्थात domain किसी विशिष्ट स्थान को कहते है जहाँ आप किसी दूसरे से ज्ञान या किसी गतिविधि के द्वारा जुड़े हुए है| internet में भी हम किसी वेबसाइट के पते को domain ही कहते है| तो ऐसे में जब आप blog लिख कर जिस स्थान पर उसे दूसरे के लिए उपलब्ध कराते है वही domain name कहलाता है|

blogging tips के लिए पढ़े- 14 successful blogging tips in hindi

आसान भाषा में यदि कहा जाए तो जिस प्रकार सब मनुष्यो का अपना नाम होता है वैसे ही सभी websites का भी अपना एक नाम होता है| क्योंकि नाम याद रखना आसान होता है जबकि कोई अंक याद रखना एक कठिन कार्य होता है| इसी कारण हम IP adress के जगह domain name को याद रखना अधिक महत्त्वपूर्ण समझते है| IP Address या Internet Protocal Address एक website का numerical address होता है|  

तो इस प्रकार हम देखते है कि किसी domain name के पता होने होने से हम उस वेबसाइट तक आसानी से पहुंच सकते है| इसके अतिरिक्त आप domain name के पता होने से किसी website का IP address तक भी पहुंच सकते है|

domain name system in hindi (DNS)

domain नाम काम कैसे करता है इस चीज को जानने से पहले हमें DNS के सन्दर्भ में भी जान लेना जरुरी है|

अब चूँकि domain तो एक adress मात्र है परन्तु आपका यह adress किसी hosting या server पर स्टोर होता है| जब कभी भी आप google पर उस website के url को search में डालते है तो आप सीधे server से जुड़ जाते है और google आपको वही चीजे show करता है जो उस server में मौजूद होता है| इसी server को DNS या Domain Name Server कहा जाता है|  

यहाँ यह बात जानना आवश्यक है कि जब भी हम google में कुछ लिख कर search करते है तो वह उस लिखे हुए शब्द या url का numeric (IP Address) find करता है| और हमें पुनः उस IP Address का नतीजा शाब्दिक रूप में देता है| यह computer की सामान्य coding होती है| तो domain name इसी प्रकार से काम करता है| 

Types of domain name in hindi

domain name के कई प्रकार होते है, परन्तु हम खुशनसीब है कि हमें इतने सारे domain name को याद नहीं रखना पड़ेगा| वैसे यदि हम domain name को category में विभाजित करे तो हमें मुख्यतः चार categories दिखाई देते है इन categories के कुछ subcategories भी है जो निम्नानुसार है-

1. TLD - Top Level Domain In Hindi

इसे समझने के लिए हम आपको कुछ उदाहरण दिखाते है,

www.hindlekh.com

www.hindlekh.info

www.hindlekh.net

उपरोक्त तीनो उदाहरणों में आपको कुछ अंतर दिखाई दे रहा होगा| दिए गए उदाहरणों में स्पष्टतः अंतिम नामो में फ़र्क़ दिखाई देता है जैसे .com, .info, .net इत्यादि| यही TLD है|

domain name in hindi example
top level domain name का एक उदाहरण

ये internet के सबसे उच्चतर स्तर के domain होते है, वास्तव में ये आपके domain name का अंतिम हिस्सा होता है| internet में सबसे उच्च स्तर पर होने के कारण सभी search engines इसे preference देते है| search engines के अत्यधिक priority देने के कारण ये हमारे SEO को सीधे सीधे प्रभावित करते है| जितना अधिक आपके web address का TLD strong होंगे उतना ही अधिक आपका website SEO friendly होगा| कुछ TLD के  नीचे दिए जा रहे है –

  • .com (commercial) – इस प्रकार का TLD व्यावसायिक website के लिए इस्तेमाल किया जाता है, जिसमे लाभ अर्जन करना प्रमुख कार्य होता है| इसके अतिरिक्त इस प्रकार के TLD का internet में सार्वाधिक मांग होता है| तो स्वाभाविक है की इसका SEO भी सर्वाधिक ही रहेगा और यह हमें महंगे में प्राप्त होगा|
  • .net (network) –  इस प्रकार का TLD सामान्यतः इंटरनेट से सम्बंधित जानकारियों को प्रदान करने वाले websites के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है| हाल ही के दिनों में इस प्रकार के TLD की भी demand में काफी अधिक वृद्धि हुई है क्योंकि आज इंटेरनेट, SEO, blogging के विषय में अधिकतर bloggers लिख रहे है|
  • .org (organisation) – किसी संगठन के विषय में बनाए जाने वाले वेबसाइट पर इस प्रकार का TLD का इस्तेमाल किया जाता है|
  • .gov (gobvernment) – सरकारी website हेतु|
  • .edu (educational) – शिक्षा सम्बंधित वेबसाइट हेतु इस प्रकार का TLD का इस्तेमाल किया जाता है|
  • .name (name) – किसी व्यक्तिगत blogging site में इस प्रकार का TLD दिखाई पड़ता है|
  • .info (information) – सूचना, संचार या समाचार से सम्बंधित sites इसका इस्तेमाल करते है|
  • .biz (business) – किसी विशेष प्रकार के व्यवसाय या market को show करने के लिए इसका use किया जाता है|

ccTLD- Country Code Top Level Domain

दो अक्षरों वाले domain जो किसी विशेष देश या प्रांत को इंगित करते है, ccTLD कहलाते है| इनकी यही विशेषता है कि ये किसी विशेष country को दो शब्दों में इंगित करते है| हाल ही के दिनों में इस प्रकार के TLD की मांग में बहुत अधिक वृद्धि देखी गई है| वैसे इस प्रकार के domain को आप तभी खरीद सकते है जब आप उसी देश के नागरिक हो| ऐसा इसलिए किया  जनता किसी भी प्रकार के fraud से बच सके और इसी कारन इस प्रकार के domain भी highly SEO Friendly होते है| इनके कुछ उदाहरण है –

  • .au
  • .in
  • .uk
  • .us

2. Second level Domain in hindi

यह TLD का ऐसा प्रारूप होता है जिसमे किसी ccTLD के ऊपर gTLD होता है उदाहरण के लिए- .au.com.gov.in इत्यादि| तो इस प्रकार हम दखते है कि Second-level Domain पदसोपान में TLD के तुरंत नीचे आता है|

3. subdomain in hindi

subdomain कुछ और नहीं जबकि आपके अपने domain का ही एक अंश होता है| इसे उदाहरण से समझना ज्यादा बेहतर होगा| जैसे hindlekh.com तो एक TLD है परन्तु अगर मैं इसे ऐसे बनाकर दिखाऊ – blog.hindlekh.com या hindi.hindlekh.com तो यह मेरे ही डोमेन का उपडोमेन की तरह प्रतीत होगा| इसे ही subdomain कहते है|

यहाँ ध्यान देने वाली बात यह है कि यदि आपने कोई भी domain खरीद लिया है तो आपको उसका subdomain खरीदने की आवश्यकता नहीं होगी| इसे आप स्वयं ही बना सकते है|

परन्तु subdomain का इस्तेमाल करना व्यावसायिक रूप से अच्छा नहीं माना जाता है| क्योंकि इससे आप भले ही अपना domain का विस्तार कर रहे है ऐसा सोचेंगे परन्तु वास्तव में यह ऐसा नहीं होगा| इससे पाठको को confusion अधिक होगा क्योंकि वे समझ नहीं पाएंगे कि आप अपने TLD में क्या दिखाना चाहते है और subdomain में क्या? दूसरी बात subdomain पढ़ने के लिहाज़ से भी काफी बड़ा हो जाता है जिसे याद रख पाना थोड़ा मुश्किल हो सकता है|

अंतिम शब्द

domain के विषय में हर CS का विद्यार्थी अपने पढ़ाई के आरंभिक दौर में जानना चाहता है| क्योंकि domain name kya hota hai , यह प्रश्न computer या blogging विषय में सबसे पहले पूछा जाता है इसके अतिरिक्त जब कभी हम SEO से लेकर blogging जैसे विषयो की बात करते है तो बिना domain name के इस विषय का कोई औचित्य ही नहीं रह जाता| इसलिए आज के युग में जहाँ technology अपने चरम पर है, हमें भी अपने ज्ञान को सीमित ना रखते हुए सभी विषयो की कम से कम नाम मात्रा ही सही जानकारी रखनी चाहिए|

इस लेख “domain name kya hota hai” में हमने domain के विषय में इसके शाब्दिक अर्थ से लेकर पारिभाषिक अर्थ तक सफर तय करने के बाद इसके प्रकारो का अध्ययन किया|

आशा करता हूँ कि आप जिस उद्देश्य से इस लेख को पढ़ने आये थे वह पूर्ण हुई होगी| यदि आपके पास इस लेख के सन्दर्भ में कोई सुझाव है तो हमें बिना झिझक के comment से बताए ताकि हम भी कुछ अतिरिक्त सीख सके और अपने गलती को सुधार सके|

Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Newest
Oldest
Inline Feedbacks
View all comments