cms kya hai

CMS kya hai

आप पढ़ रहे है ; cms kya hai? यदि हम मूलतः देखे तो CMS या Content Management System एक प्रणाली है जो कंटेंट का प्रबंधन करती हैं।  स्थानों पर इसे एक सॉफ्टवेयर के रूप में भी परिभाषित किया जाता है जो कंटेंट कोआधुनिक और दिलचस्प बनाने में सहयोग प्रदान करता है।

वैसे CMS का उदय egypt के जनजातीय समुदायों द्वारा हुआ जहाँ  समुदाय के लोग अपनी बातो को प्रकट करने के लिए स्थानीय वस्तुवो की सहायता से अपने प्लान या किसी भी चीज को अलग अलग प्रकार के तरीको से बताते थे।  भविष्य में इसी का आधुनिक रूप कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम के नाम से प्रखयात हुआ और आज डिजिटल क्रान्ति के समय में तो इसने सम्पूर्ण जगत में कंटेंट पेश करने के लिए बेहतरीन मिशाल  पेश किया है।

एक कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम [CMS] एक सॉफ्टवेयर प्लेटफ़ॉर्म है जो अपने उपयोगकर्ताओं को कन्टेंट बनाने, संपादित करने, संग्रह करने, सहयोग करने, रिपोर्ट करने, प्रकाशित करने, वितरित करने और सूचित करने देता है। इसका ग्राफिक यूजर इंटरफेस (GUI) किसी वेबसाइट के डेटाबेस यूजर फ्रेंडली के साथ इंटरैक्ट करता है।

वेबसाइटें अपने पेज बनाने और डिजाइन करने के लिए HTML (हाइपरटेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज) और CSS (कैस्केडिंग स्टाइल शीट्स) का उपयोग करती हैं। ये वेब पेज बनाने के लिए आवश्यक मुख्य घटक हैं। यहाँ इस बात पर गौर किया जाना चाहिए कि HTML पृष्ठ की संरचना वही CSS दृश्य और लेआउट प्रदान करता है।

एक सीएमएस बिना किसी कोडिंग ज्ञान के उपयोगकर्ताओं को वेबसाइटों में सामग्री को संशोधित करने और संपादित करने की अनुमति देता है, ” यहाँ जो आप देखते हैं वह आपको मिलता है।

CMS सॉफ़्टवेयर में दर्ज किया गया डेटा एक डेटाबेस में संग्रहीत किया जाता है, जो वेब पेज को टेम्पलेट के माध्यम से प्रस्तुत करता है। उस पृष्ठ का CSS तब आउटपुट को नियंत्रित कर सकता है।

CMS कैसे कार्य करता है ?

एक CMS उपयोगकर्ताओं को डैशबोर्ड से सामग्री का प्रबंधन करने की अनुमति देता है। केवल  one click install के साथ आज मार्किट में अच्छी संख्या में CMS सॉफ़्टवेयर उपलब्ध हैं। यह गैर-तकनीकी ब्लॉगर के लिए इसका उपयोग करना और नेविगेट करना आसान बनाता है।

एक उदाहरण के लिए CMS के विकास से पहले के समय के ब्लॉग्गिंग साइट के बारे में सोचते है इनमे कार्य करना अत्यधिक जटिल होता था। क्योंकि यहां हमें किसी भी प्रकार के डाटा, इमेज, वीडियो या किसी भी प्रकार के कंटेंट को अपने ब्लॉग में डालने के लिए डेटाबेस में जाना होता था, फिर कोडिंग के जरिए कार्य को पूरा किया जाता था। आज के आधे से ज्यादा ब्लॉगर तो कोडिंग के विषय में कुछ जाने बिना ही CMS के प्रयोग से बड़ी से बड़ी साइट कड़ी कर सकते है।  

छोटे स्टार्टअप के लिए अधिकांश  CMS प्रोग्राम ओपन सोर्स और फ्री हैं। इसका मतलब है कि आपको सीएमएस के अन्य घटकों के साथ कुशल होने की आवश्यकता नहीं है, अर्थात् आपको javascript, HTML  CSS,  PHP और MySQL [structure query language (एसक्यूएल!) इत्यादि सीखने की कोई विशेष आवश्यकता नहीं है। 

CMS के साथ आज एक वेबसाइट का निर्माण हमारे लिए बहुत अधिक आसान है। यह आपको एक कंट्रोल पैनल से सीधे टेक्स्ट लिखने और चित्र और ग्राफिक्स डालने की अनुमति देता है। वेबसाइटों को एक्सेल स्प्रेडशीट के समान डेटाबेस के साथ बनाया गया है। वेब के विकसित होते ही CMS भी लगातार अपडेट होते रहते हैं।

नई सीएमएस वेब बिल्डिंग प्लेटफॉर्म के बहुत सारे विकल्प हैं। पारंपरिक विकल्प वर्डप्रेस है। WordPress, बहुआयामी सुविधाओं, टेम्प्लेट, थीम और प्लगइन्स के साथ खुला स्रोत है और लाइव वेबसाइट को स्थापित करने और बनाने के लिए कोई समय नहीं लेता है। वर्डप्रेस लगभग 75 मिलियन वेबसाइटों द्वारा उपयोग किया जाने वाला सॉफ्टवेयर है। वर्तमान में सभी वेबसाइटों में इसका एक चौथाई से अधिक हिस्सा है।

CMS से किस किस प्रकार के साइट बनाए जा सकते है?

आज CMS के माध्यम से हम किसी भी प्रकार के वेबसाइट का निर्माण आसानी से कर सकते है। विशेषकर CMS निम्न प्रकार के sites के लिए अधिक लोकप्रिय है। 

  • ब्लॉग 
  • गेमिंग साइट 
  • तकनिकी साइट 
  • कार साइट
  • जॉब पोर्टल 
  • ऑनलाइन फोरम 
  • रिव्यु साइट 
  • कूपन साइट 
  • समाचार साइट 
  • ऑनलाइन एग्जाम साइट
  • गवर्नमेंट साइट 
  • मूवी वेबसाइट 
  • ऑक्शन वेबसाइट
  • स्कूल/कालेज वेबसाइट 
  • बिज़नेस साइट 
  • लिरिक्स साइट
  •  व्यक्तिगत साइट
अधिक जानकारी के लिए इस लेख को अवश्य पढ़े – 19 प्रकार के विभिन्न ब्लॉग

CMS सॉफ्टवेयर के उदाहरण

1. wordpress

wordpress आधुनिक समय में CMS की सटीक परिभाषा देता है। दुनियाभर में wordpress को इस्तेमाल करने वाले लोगो की संख्या किसी भी अन्य CMS सॉफ्टवेयर की तुलना में बहुत अधिक है। कुल उपलब्ध CMS software में यह 35% स्थान को घेरता है इससे आप इसकी लोकप्रियता का अंदाज़ा लगा सकते है।

यह php और MySql से निर्मित है, हालाँकि बहुत से कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम इन्ही से निर्मित होते है परन्तु wordpress ने इस विषय में दक्षता हासिल कर ली है। यही कारण है कि लोग वर्डप्रेस को अन्य की तुलना में अधिक पसंद करते है। 

वर्डप्रेस (WP, WordPress.org) एक स्वतंत्र और ओपन-सोर्स CMS है। फीचर्स में एक प्लगइन आर्किटेक्चर और एक टेम्प्लेट सिस्टम शामिल है, जो वर्डप्रेस के भीतर थीम्स के रूप में संदर्भित है।

वर्डप्रेस मूल रूप से एक ब्लॉग-प्रकाशन प्रणाली के रूप में बनाया गया था, लेकिन बाद में यह अन्य पारंपरिक मेलिंग सूचियों और मंचों, मीडिया दीर्घाओं, सदस्यता साइटों, शिक्षण प्रबंधन प्रणालियों (एलएमएस) और ऑनलाइन स्टोर सहित अन्य प्रकार की वेब सामग्री का समर्थन करने के लिए विकसित हुआ।

यह भी पढ़े – वर्डप्रेस क्या है ?

वर्डप्रेस का उपयोग 60 मिलियन से अधिक वेबसाइटों द्वारा किया जाता है, जिसमें अप्रैल 2019 तक शीर्ष 10 मिलियन वेबसाइटों में से 33.6% शामिल हैं, वर्डप्रेस उपयोग में सबसे लोकप्रिय सामग्री प्रबंधन प्रणाली में से एक है।

कार्य करने के लिए वर्डप्रेस को वेब सर्वर पर स्थापित किया जाना चाहिए, या तो wordpress.com जैसी इंटरनेट होस्टिंग सेवा या सॉफ्टवेयर पैकेज wordpress.org चलाने वाले कंप्यूटर का हिस्सा होना चाहिए।

 यह भी पढ़े :- वर्डप्रेस प्लगइन क्या होता है ? 

वर्डप्रेस में मात्र अपने डैशबोर्ड से आप अपनी सम्पूर्ण वेबसाइट को नियंत्रित कर सकते है। यहां आप अपने वेबसाइट में कंटेंट डाल सकते है जो इमेज, टेक्स्ट, वीडियो इत्यादि के रूप में हो सकता है।

wordpress पर ब्लॉग बनाने के लिए इस लेख को अवश्य पढ़े – ब्लॉग कैसे बनाए 

2. joomla

joomla वेब सामग्री के प्रकाशन के लिए एक स्वतंत्र और ओपन-सोर्स कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम है, जिसे ओपन सोर्स मैटर्स, इंक द्वारा विकसित किया गया है। यह एक मॉडल-व्यू-कंट्रोलर वेब एप्लीकेशन फ्रेमवर्क पर बनाया गया है, जिसका उपयोग सीएमएस के स्वतंत्र रूप से किया जा सकता है।

जूमला PHP में लिखा गया है, ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग तकनीकों, सॉफ़्टवेयर डिज़ाइन पैटर्न, MySQL, MS SQL या PostgreSQL डेटाबेस में डेटा संग्रहीत करता है, और इस तरह की सुविधाओं को शामिल करता है।

 2019 तक, वर्डप्रेस और ड्रुपल के बाद, यह इंटरनेट पर चौथा सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम होने का अनुमान था।

3. Drupal

Drupal, PHP में लिखा और GNU जनरल पब्लिक लाइसेंस के तहत वितरित एक स्वतंत्र और खुला स्रोत वेब सामग्री प्रबंधन ढांचा है। Drupal दुनिया भर में सभी वेबसाइटों के कम से कम 2.3% – व्यक्तिगत ब्लॉग से लेकर कॉर्पोरेट, राजनीतिक और सरकारी साइटों तक के लिए एक बैक-एंड फ्रेमवर्क प्रदान करता है।

दिसंबर 2019 तक, Drupal समुदाय में 1.39 मिलियन से अधिक सदस्य शामिल थे, जिसमें 1,17,000 उपयोगकर्ता सक्रिय रूप से योगदान दे रहे थे। 

4. wix

Wix.com एक इजरायली सॉफ्टवेयर कंपनी है, जो क्लाउड-आधारित वेब विकास सेवाएं प्रदान करती है। यह उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन ड्रैग और ड्रॉप टूल्स के उपयोग के माध्यम से एचटीएमएल वेबसाइट और मोबाइल साइट बनाने की अनुमति देता है।

विभिन्न प्रकार के Wix- विकसित और तृतीय-पक्ष अनुप्रयोगों का उपयोग करके उपयोगकर्ता अपनी वेब साइटों पर सामाजिक प्लग-इन, ई-कॉमर्स, ऑनलाइन मार्केटिंग, संपर्क फ़ॉर्म, ई-मेल मार्केटिंग और सामुदायिक फ़ोरम जोड़ सकते हैं। Wix वेबसाइट बिल्डर एक प्रीमियम व्यवसाय मॉडल पर बनाया गया है।

Subscribe
Notify of
guest
9 Comments
Newest
Oldest
Inline Feedbacks
View all comments