blog kya hota hai ?

blog kya hota hai

क्या आप जानते हैं कि blog kya hota hai ? यदि आप नहीं जानते हैं, तो आप सही जगह पर आए हैं।आज हम ब्लॉग के बारे में जानकारी साझा करेंगे और समझेंगे की आखिर यह ब्लॉग नामक बला है क्या?

इस लेख में आपके मन में उठ रहे ब्लॉग से सम्बंधित अनेक प्रश्नो के उत्तर मिल जायँगे हालांकि ब्लॉग कोई छोटा विषय नहीं है| यह अपने साथ अनेक उपविषयों को समेटे हुए है|

blogging tips के लिए यह लेख अवश्य पढ़े- 14 successful blogging tips in hindi

अतः आप हम से जुड़े रहिये और ब्लॉग के बारे में हमारे विभिन्न लेखो को पढ़ कर इस विषय में परांगत हो जाइये| आइये हम ब्लॉग  के बारे में जानते है-

ब्लॉग एक प्रकार का वेबसाइट ही है जिस पर लोग अपने ज्ञान,विचार और अनुभव को टेक्स्ट, इमेज, वीडियो आदि के रूप में पेश करते है। इसे इस प्रकार से समझे, जैसे हम facebook या Instagram में कोई पोस्ट डालते है जिसे कुछ सीमित लोग, जो आपके followers या दोस्त है, देख सकते है। परन्तु जब आप एक ब्लॉग लिखते है तो यह सम्पूर्ण जगत के लिए खुल जाता है|

अर्थात यह संवाद का एक ऐसा माध्यम है जो अन्य सभी डिजिटल उपकरणों की तुलना में ज्यादा विस्तारित है|

अतः ब्लॉग अपने अनुभव व ज्ञान का सार्वजनिक प्रसार करने का सबसे बेहतरीन माधयम है, बशर्ते इसमें ऊर्जा व समय अधिक लगती है|

blogging kya hota hai ?

जब व्यक्ति या व्यक्तियों का समूह किसी blog को सार्वजनिक करते है तो यह blogging कहलाता है|आसान भाषा में blog करने की क्रिया को ही blogging कहते है|

जैसा की स्पष्ट है कि blogging एक व्यक्ति या एक से अधिक व्यक्तियों का समूह संचालित कर सकता है|आजकल तो बड़ी बड़ी कॉर्पोरेट कम्पनिया, संगठन व संस्थाए एक टीम के रुप में blogging कर रहे है और दिन प्रतिदिन अपने कंटेंट को अपडेट कर रहे है|

जिसका परिणाम यह है की blogging की दुनिया में आज बहुत अधिक भीड़ बढ़ चुकी है। इसका प्रमुख कारण यह भी है कि इसके ज़रिये अब अच्छी खासी आमदनी बनाई जा सकती है। यही कारण है की आज बहुत से युवा व महिलाये घर बैठे इसे रोजगार के पूर्ण या आंशिक विकल्प के रूप में देख रहे है। 

यह भी पढ़े –  19 विभ्भिन प्रकार के blog 

history of blogging in hindi - blogging का इतिहास क्या है

Blogging का इतिहास बहुत अधिक पुराना नहीं है|

सन 1994 : Justin Hall नाम के एक अमेरिकन छात्र ने दुनिया का पहला blog, links.net बनाया जिसपर वे अपनी निजी जिंदगी से जुडी बातें लिखा करते थे| इसे वे एक डायरी के रूप में उपयोग करते थे।

सन 1997 : पहली बार “weblog ” शब्द का उपयोग Jorn Barger ने किया जो की Robot Wisdom नाम के blog के editor थे।

सन 2003 : गूगल ने  Blogger और Adsense को खरीद लिया| और ठीक इसी समय Matt Mullenweg ने WORDPRESS लांच किया|

2003 के पश्चात: अब blogging एक डायरी या लेख से आगे बढ़ कर बड़े बड़े कंपनियों व व्यक्तियो का बिज़नेस मॉडल बन चुका है|

और आज आप सोशल मिडिया के ज़माने में Facebook , Whatsapp व Twitter इत्यादि से अपने ब्लॉग को शेयर कर के अपने कार्य को अधिकाधिक बढ़ा सकते हैं। 

यह भी पढ़े – blogger vs wordpress कौन है best 

लोग ब्लॉग्गिंग क्यों करते है (why people do blogging in hindi)

यह एक महत्वपूर्ण प्रश्न है जिसे इस प्रकार भी पूछा जाता है की ब्लॉग्गिंग के फायदे क्या है? यह भी पढ़े- 14 successful blogging tips in hindi

वास्तव में ब्लॉग्गिंग के अनेक फायदे है इन फायदों को निम्न दो मुख्य प्रकार से विभक्त किया जा सकता है-

  • स्वहित के लिए (For himself)
  1. अपने विचारो को व्यक्त करने के लिए
  2. अपने ज्ञान को साझा करने के लिए
  3. नाम कमाने के लिए
  4. आय के लिए (ब्लॉग से पैसे कैसे कमाए?)
  5. अपने लेखन क्षमता को प्रबल करने के लिए (बेहतरीन कंटेंट कैसे लिखे?)
  6. अपने अभिरुचि के लिए
  7. अपने ज्ञान के विकास के लिए
  8. अपने व्यापार को और समृद्ध करने के लिए
  • परहित के लिए (for others)
  1. बेहतर समाज की संकल्पना के लिए
  2. शिक्षा के प्रसार के लिए
  3. वास्तविकता को समाज के सम्मुख रखने के लिए
  4. विज्ञान व आधुनिकता के विकास के लिए
  5. अपनी संस्कृति को सहेजने के लिए
  6. रहस्यमयी तत्वों को प्रकट करने के लिए
  7. समाज को up to date रखने के लिए

types of bloggers - bloggers के प्रकार

ब्लॉग लिखने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के समूह को संयुक्त रूप से ब्लॉगर कहा जाता है। 

ब्लॉगर के मुखयतः दो प्रकार है, परन्तु इनके अनेक उप-प्रकार है इन प्रकारो का संक्षेप में व्याखया करना कठिन है अतः अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे। 

bloggers के निम्नलिखित प्रकार होते है –

  • Permanent blogger
  • विशिष्ट विषय (niche) आधारित ब्लॉगर
  • बहुविषय आधारित ब्लॉगर
  • घोस्ट ब्लॉगर
  • पार्ट-टाइम ब्लॉगर
  • आमंत्रित ब्लॉगर

blog kaise banate hai

आपको ब्लॉग बनाने के लिए सर्वप्रथम एक वेबसाइट बनाना पड़ता है जिसमे आप अपने blog को show करेंगे|

वेबसाइट बनाने के लिए कुछ चीजों को खरीदने की आवश्यकता होती है| हालांकि आज मार्केट में अनेक CMS भी मौजूद है जैसे Blogger,Wordpress,Wix,Medium इत्यादि।

यह भी पढ़े – CMS क्या होता है?

उपरोक्त CMS से हमें मुफ्त में ब्लॉग लिखने को अवश्य मिल जाता है परन्तु इनसे blogging करने का सबसे प्रमुख घाटा यह होता है कि इसमें आपको अपने मनचाहे Domain Name और Hosting तथा अलग-अलग  themes, plug-ins जैसे अनेक चीजों को चुनने का अवसर नहीं मिलता। 

यद्यपि हम आपको सलाह देते है की आप अगर ब्लॉग्गिंग की दुनिया में नए है तो सबसे पहले फ्री ब्लॉग्गिंग को ही चुने उसके बाद ही अपना अलग वेबसाइट बनाने  के बारे में सोचे।

ब्लॉग कैसे बनाते है यह समझने के लिए इस लेख को अवश्य पढ़े – 

ब्लॉग कैसे बनाए ?

वर्डप्रेस ब्लॉग कैसे बनाए 

blogspot में ब्लॉग कैसे बनाए 

अगर आप ब्लॉग्गिंग में काफी अनुभवी हो चुके है तो आप अपना Domain Name व Hosting खरीद कर अपना ब्लॉगिंग वेबसाइट बना सकते है| वैसे भी यह खरीदना बहुत अधिक खर्चीला साबित नहीं होता जबकि आप 1500 -2000 रूपये के वार्षिक खर्च मात्र से अपने वेबसाइट को चला सकते है|blog बनाने का तरीका आपको नीचे बताया जा रहा है| bluehost नामक hosting कंपनी से मात्र 1088 ₹ में 1 साल के लिए डोमेन और hosting ख़रीदे। 

1. डोमेन नाम ख़रीदे

ब्लॉग बनाने के लिए सबसे पहले आपको एक Domain Name रजिस्टर करने की आवश्यकता होती है|

यह Domain Name आपके वेबसाइट या ब्लॉग का एक पता (Address)की तरह होता हैं या इसे आप अपने वेबसाइट का नाम भी कह सकते है  जिसके जरिये कोई भी व्यक्ति आपके वेबसाइट पर आ सकता है

domain name का शुरुवात आपके website का नाम होता है जैसे तथा अन्त सदैव .com, .net, .info, .edu, .gov, .co.in इत्यादि से होता है|

जब आप एक Domain  खरीदते है तो यह आधिकारिक रूप से आपके वेबसाइट का पता बन जाता है और इस नाम को अब कोई दूसरा व्यक्ति नहीं खरीद सकता|

अधिक जानकारी के लिए यह लेख पढ़े – domain क्या होता है?

2. होस्टिंग ख़रीदे

जब आप कोई वेबसाइट बनाते है तो आपके लिखे हुए लेख और सभी डाटा को किसी स्थान पर सुरक्षित रखना आवशयक हो जाता है और इस स्थान पर 24Χ7 पाठको की पहुंच होनी आवश्यक है क्योंकि यदि आप सो भी रहे है तब भी आपके वेबसाइट तक आपके पाठको की उपस्थिति तो होनी ही चाहिए। 

यह  कार्य आप स्वयं भी कर सकते है यदि आप अपने कंप्यूटर सर्वर को वर्ल्डवाइड खोल दे और यह तभी संभव है जब आपके पास  24Χ7 इंटरनेट कनेक्शन व बिजली मौजूद हो।

वास्तव में यह बड़ा जटिल और असंभव सा प्रतीत होने वाला कार्य लगता है तब ऐसे में सामने आती है होस्टिंग कम्पनिया। 

ये होस्टिंग कम्पनिया अपने कंप्यूटर में आपके सभी डाटा को सुरक्षित रखती है और 24Χ7 पाठको की पहुंच के लिए उपलब्ध कराती है। 

इस प्रकार जब आप होस्टिंग खरीदते है तो यह आपको  एक प्रकार का खाली जगह या space  प्रदान करता है जिसमे आप अपने सभी लेखो, वीडियो,  म्यूजिक , gif  इत्यादि को सुरक्षित और पाठको के लिए हमेशा उपलब्ध कर सकते है। 

बाजार में आपको अनेक Hosting कम्पनिया मिलेंगी जो आपको सस्ते दर में मासिक या वार्षिक सेवा प्रदान करती है

कुछ Hosting कंपनियों के नाम hostinger,bluehost,hostgator,godaddy

hosting के विषय में अधिक जानकारी के लिए यह लेख पढ़े – hosting क्या होता है?

3. blogging प्लेटफॉर्म का चयन करे

जब आप अपने वेबसाइट का नाम और space दोनों तय कर लेते है तब बस एक अंतिम कार्य और बच जाता है और यह कार्य होता है कि आप अपने वेबसाइट या ब्लॉग में content कैसे लिखेंगे? क्योंकि हम सब जानते है कि किसी भी चीज को लिखने या पढ़ने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज होती है भाषा।

वैसे ही कंप्यूटर की भी अपनी एक अलग भाषा होती है जिसे coding कहा जाता है|

यद्यपि coding करने के पारम्परिक तरीको में से कुछ है Html, php, java , javascript इत्यादि| परन्तु इन सबको सीखने के लिए आपको अत्यधिक ऊर्जा और समय की आवश्यकता होती है| इन सबसे बचने के लिए आपको कुछ अन्य विकल्प की ओर जाना चाहिए जिनमे प्रमुख है WordPress, joomla, drupal इत्यादि|

ये ऐसे CMS है जिनके जरिये आप बिना कोड किये आसानी से ब्लॉग लिख सकते है| 

यह भी पढ़े – 

इस प्रकार आपको अपने वेबसाइट को बनाने के लिए तथा ब्लॉग लिखने के लिए किसी प्रकार के कोड को सिखने की आवश्यकता नहीं रह जाती। 

आप wordpress को बिलकुल आसानी और मुफ्त में अपने वेबसाइट से जोड़ सकते है जिससे आपको blog के लिए coding करने की जरुरत नहीं पड़ेगी। (जानिए HTML क्या है?)

परन्तु फिर भी यदि आप coding जानते है तो यह आपके blogging को समृद्ध करने के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध हो सकती है। 

अब जब आप इन सभी चीजों को समझ चुके है तो आप  करने के लिए तैयार है| परन्तु क्या आपको पता है की लोग blogging से पैसे भी कमाते है?

blog se paise kaise kamye ?

जब लोगो ने blog लिखना शुरू किया तब यह देखा गया की उनके लिखे blog में पाठको की एक भारी भरकम भीड़ आने लगी | इस भीड़ को bloggers ने धीरे से अपने आय में परिवर्तन करना आरम्भ कर दिया|

“परन्तु भीड़ को आय में कैसे परिवर्तित किया जा सकता है?”

यह एक समान्य प्रश्न  है जो हर blogger के मन में blogging  के शुरुवाती चरणों में  आता है| परन्तु इस प्रश्न का उत्तर भी बड़ा आसान है। 

ब्लॉग से पैसे कमाने के लिए इस लेख को अवश्य पढ़े – ब्लॉग से पैसे कैसे कमा सकते है?

हम नीचे  blogging से कमाई के तरीको अध्ययन करेंगे और आपको blogging से मुख्यतः किन तरीको से कमाया जाता है वह बतायेंगे-

1. अपना उत्पाद बेचकर

भीड़ से पैसा कमाने का एक आसान तरीका यह हो सकता है कि जब आपके दुकान में अत्यधिक भीड़ होगी तो आप अपने बनाये प्रोडक्ट को भी बेचना आरम्भ कर सकते है जिसे वह भीड़ खरीद सकती है|

इसी प्रकार जब आप blogging करते है तो आप अपने बनाये  books, application,software, course, tution, recipe book या  ऐसे अनेको product को launch कर सकते है|  इसे ही product selling कहा जाता है

2. साझेदारी विपणन - affiliate marketing

कैसा रहेगा यदि आप किसी भी कंपनी के product की समीक्षा करे और उसे बेचने पर आपको पैसे मिले?

मिसाल के तौर पर flipkart अपने किसी प्रोडक्ट को बेचने के लिए आपके साथ पार्टनरशिप करे और उस सामान के बिकने पर flpikart आपको कुछ कमीशन भी दे क्योंकि उनके प्रोडक्ट को बेचने में आपने फ्लिपकार्ट का सहयोग किया है|

इस प्रकार से प्राप्त आय को affiliate marketing कहा जाता है| affiliate marketing कमाई का एक बहुत ही उपयोगी साधन है|

एक आकड़े के अनुसार बड़े ब्लॉगर तो अपने आय का 70-90% कमाई का जरिया affiliate marketing को बताते है। 

अधिक जानकारी के लिए यह लेख पढ़े – affiliate marketing क्या होता है?

3. विज्ञापन से कमाई

जब कभी भी विज्ञापन का नाम आता है तो उसके पीछे पीछे धन का भी नाम आता है|

आपने ध्यान दिया होगा की जब कभी आप अखबार पढ़ते है तो उसमे विज्ञापनों की भरमार होती है ऐसा करने से अखबार वालो को विज्ञापन दिखाने का पैसा मिलता है क्योकि अखबार के जरिये बहुत अधिक संख्या में ग्राहकी बनती है|

इसी प्रकार blogging की दुनिया में जब हम अपने blog  पर किसी और कंपनी के विज्ञापन को दिखाते है तो वह कंपनी हमें पैसा देती है। जैसे – google adsense 

blogging के जरिये कमाई के बहुत से तरीके है अधिक जानने के लिए इस लेख को पढ़े – blog se paise kaise kamaye

blogging और कुछ मिलते जुलते शब्दों में अंतर

vlog vs blog kya hota hai in hindi

अधिकांश व्यक्ति या तो vlog का अर्थ नहीं जानते या तो वे vlog को blog ही समझते है|

vlog एक विश्ष्ट blog है जिसमें  एक व्यक्ति किसी वेबसाइट या सोशल मीडिया के जरिये नियमित रूप से short video पोस्ट करता है।

अधिक जानकारी के लिए इस लेख को पढ़े – 19 types of blog in hindi

यहाँ इस बात पर ध्यान देना आवश्यक है कि blog सिर्फ लिखित या image रूप में होता है, किन्तु vlog वीडियो के रूप में  होता है|

website vs blog kya hota hai in hindi

blog एक प्रकार का website ही  है। blog और वेबसाइट के बीच एकमात्र वास्तविक अंतर यह है कि ब्लॉगों को नियमित रूप से नई सामग्री के साथ अपडेट किया जाता है, जिसे रिवर्स कालानुक्रमिक क्रम (पहले नए पोस्ट) में प्रदर्शित किया जाता है।

जबकि website अपनी प्रकृति में स्थिर है और यहां सामग्री पृष्ठों में व्यवस्थित किये जाते है  इसके अलावा website को बार बार update भी नहीं किया जाता|

article vs blog kya hota hai in hindi

blog और article में मुख्य अंतर इनके शब्द सीमा और प्रारूप का है जहां blog में  शब्द हो सकते है वही एक article में 1500 -5000 शब्द हो सकते है|

कंटेंट के विषय में जानकारी के लिए यह लेख अवश्य पढ़े – Quality content kya hota hai in hindi

अंतिम शब्द : blog kya hota hai ?

blogging के शुरुवाती चरणों में प्रत्येक व्यक्ति के मन में अनेको आशंकाए आती है, कुछ एक उन समस्याओ का निराकरण ढूंढ निकलते है तो कुछ उस समस्या से चोट खा कर दुबारा इस और नहीं देखते और ऐसे ही लोग blogging में असफल होते है|असफलता से बचने के लिए हमें निरंतर सीखते रहने का प्रयास करते रहना चाहिए| व्यक्ति एक ही दिन में ना  तो सब कुछ सिख सकता है और ना ही एक ही दिन में सफल हो सकता है| तो यदि ऐसा ही है तो अपने प्रयास को निरंतर रखिये|

SEO के विषय में अधिक जानकारी के लिए इन लेखो को पढ़े –

off page seo in hindi

on page seo in hindi

technical seo in hindi

आज हमने blog के विषय में बहुत सी जानकारी प्राप्त की जो Blog kya hota hai शीर्षक से आरम्भ हुआ और अंत के आते तक हमने blog और उनसे सम्बंधित अन्य शब्दों में अन्तर को जाना|

आशा करता हूँ कि आपको मेरा यह लेख पसंद आया होगा| अपने विचारो को आप comment के द्वारा हमें दे, जिससे हम अपने लेख के बारे में जान सके और अपनी गलतियों से सीख सके|

Subscribe
Notify of
guest
10 Comments
Newest
Oldest
Inline Feedbacks
View all comments